Friday, November 11, 2011

क्या दिया एक गलत जवाब, जान लेने को उतारू हो गया टीचर

न्यूज डेस्क(11/11/11)(Tehelkanews)

दक्षिण कोरिया में सिर्फ युद्ध के दौरान ही बर्बरता नहीं बरती जाती, बल्कि स्कूलों में भी बच्चों के साथ अमानवीय व्यवहार किया जाता है। लेकिन इसके बावजूद साउथ कोरिया के 73 प्रतिशत अभिभावकों का मानना है कि क्लासरूम में पढ़ाई के लिए बच्चों की पिटाई करना जरूरी है।एक अमेरिकी टीवी चैनल की रिपोर्ट ने इस काले सच का पर्दाफाश किया है।इस रिपोर्ट में दिखाया गया है कि किस तरह जूनियर क्लास के बच्चों को छोटी-छोटी गलतियों के लिए बेदर्दी से मारा जाता है।




News From: http://www.7StarNews.com

No comments:

 
eXTReMe Tracker